14
7
-
No icon

delhi

क्या मोक्ष प्राप्ति ने ही ली एक परिवार के 11 सदस्यों की जान ?

8

मनप्रीत सिद्धू //------हाल ही में दिल देहलाह देने वाली वारदात सामने आयी , दिल्ली के बुराड़ी शहर जहाँ एक ही परिवार के 11 सदस्यों ने फंदा लगा अपनी ही जान ले ली ! यह वारदात एक जुलाई दिन रविवार सुबह सात बजे घटी ! इस घटना की खबर पडोसी ने पुलिस को दी ! जब पुलिस घटना सथल पर पहुंची तो पुलिस को आस-पास छानबीन के दौरान 2 रजिस्टर मिले जिसमें आत्महत्या की कहानी बयान की गई ! SDM को जाँच के दौरान यह पता चला की यह परिवार आस्था में विश्वास रखते थे , और इसी आस्था की वजह से उन सभी ने फांसी लगा ली ! जांच पड़ताल करते समय पुलिस को लाशो के पास 6 मोबाइल फ़ोन मिले , जिस से यह पता चल सके की मृतिक व्यक्तिओ ने आखिर बार किस से बात की ! पुलिस को एक किताब मिली , जिसमें मोक्ष प्राप्ति के रहस्य लिखे हुए थे ! उसमें यह लिखा हुआ है कि - 1. आँखों पर पट्टियाँ अच्छे से बांधे , रस्सी बनाने के लिए सुत्ती चुनी और साडी का इस्तेमाल करे !

                                 2. 7 दिन बाद लगन और शरदा से पूजा करनी होगी, इस दौरान अगर कोई घर में आता है तो पूजा अगले दिन करनी होगी ! पूजा का

                                 दिन गुरूवार और  रविवार का होना चाहिए !

                                 3. बेबे खड़ी नहीं हो सकती तो वह दूसरे कमरे में लेट सकती है !

                                 4. सभी सदस्यों की सोच एक जैसी होनी चाहिए !

                                 5. कम रौशनी का प्रयोग करे !

                                 6. हाथों को बांधने वाली पट्टिया अगर बच जाये तो, उसे आँखों पर डबल कर बांध ले !

                                 7. जितनी लगन और शारदा दिखाओगे फल उतना ही अच्छा मिलेगा !

                                 8.  पूजा रात 12 से 1 बजे के बीच करनी होगी , उससे पहले हवन होगा !

इन 35 पन्नो पर लिखा गया था मौत का फरमान ! आपको यह भी बता दे की लोगो का कहना है की इस परिवार में एक पुरष ने 5 साल तक मोन व्रत रखा जिस से यह पता चलता है की यह परिवार तंत्र-मंत्र में विश्वाश रखता है ! किस शक़श को कहाँ खड़े होना है यह भी किताब में अच्छे से बताया गया था ! पोस्टमार्ट रिपोर्ट के दौरान मौत लटकने की वजह से हुई , मौत से बचने के किये किसी ने भी कोशिश नहीं की ! दिल्ली पुलिस को यह भी पता चला की सभी लोगो ने मरने से पहले अपनी आँखे दान की थी ! साथ ही पड़ोसिओं का कहना है की यह परिवार शांत सोभाग का परिवार था जिन्होंने कभी भी किसी से लड़ाई झगड़ा नहीं किया और 17 जून को उनकी बड़ी बेटी की सगाई हुई थी ! उनका यह कहना है की उन्होंने यह कभी नहीं सोचा था की यह भाटिया परिवार ऐसा कुछ कर सकता है ! इस घटना की खबर सुन दिल्ली के CM  अरविन्द केजरीवाल और BJP के दिल्ली अधियक्ष मनोज तिवारी भी वहां पहुँचे ! दिल्ली पुलिस इस पहलु को चारो तरफ घुमा क्र देख रही है ! 24 घंटे हो गए इस सनसनी को लेकिन मौत का राज अभी तक पता नहीं चल पाया !   

 

9

Comment

10