14
7
-
No icon

chandigarh

पुलिस में नौकरी लगने की खुशी में दोस्तों संग पार्टी कर रहे युवक की हत्‍या, कारण हैरान करने वाला

8

 हरियाणा पुलिस में चयन की खुशी में पार्टी के लिए दोस्‍तों के साथ रेवाड़ी का एक युवक चंडीगढ़ आया था। पार्टी के दौरान युवक और उसके दोस्तों का कुछ लोगों से विवाद हाे गया। इसके बाद सुबह कुछ लोग आए और युवक की गोली मारकर हत्‍या कर दी। युवक की पहचान रेवाड़ी निवासी विशाल छिल्लर के रूप में हुई है। वारदात सेक्टर-49 में हुई।

जानकारी के अनुसार, घटना विशाल के दोस्त पंकज के किराए के कमरे में हुई। गोली लगने से विशाल के दोस्‍त पंकज, आशीष और मेगल घायल हो गए। गंभीर हालत में पंकज को पीजीआइ में भर्ती कराया गया। वारदात से पूर्व देर रात पार्टी में शोर होने पर पड़ोसी ने पुलिस को इसकी सूचना दी थी। पुलिस पार्टी में शामिल युवकों को समझाकर शांत कराने के बाद चली गई। पुलिस के मुताबिक देर रात हुआ झगड़ा ही हत्याकांड की वजह बना। यूटी पुलिस ने आरोपितों की पहचान कर तीन टीमों का गठन कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार, सेक्टर-49 में पंकज ने किराये पर कमरा ले रखा है। विशाल छिल्लर, मेगल और आशीष मंगलवार रात उसके कमरे में पार्टी कर रहे थे। इसी बीच पार्टी में शामिल युवकों में झगड़ा हो गया। इसके बाद सुबह करीब सात बजे हरियाणा नंबर की आई-20 कार में आए 4-5 युवकों ने दरवाजा खुलवाया।

 

आशीष ने बताया कि आरोपितों ने विशाल के सीने में दो गोलियां मारीं। गोलियां लगते ही वह जमीन पर गिर पड़ा। हमलावरों ने कमरे में मौजूद अन्य लोगों पर भी फायङ्क्षरग की की। इसके बाद आरोपितों ने कमरे में दो-तीन फायर कर तलवार से हमला कर दिया। इसमे तीनों अन्य दोस्त भी घायल हो गए। इसके बाद सभी आरोपित हरियाणा नंबर की आई-20 कार से फरार हो गए।

आशीष ने बताया कि सभी साथी हरियाणा के रहने वाले है। वे चंडीगढ़ में रह कर अलग-अलग कोर्स की तैयारी कर रहे हैं। वहीं, आरोपितों की कार पास के मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। हालांकि, यूटी पुलिस आरोपितों के बारे में कुछ भी बताने से मना करते हुए जल्द गिरफ्तारी का दावा कर रही है।

सूत्रों के अनुसार वारदात में विशाल व सभी पीडि़त और आरोपित चंडीगढ़ डीएवी-10 से पास-आउट हैं। वे किसी छात्र संगठन में भी सक्रिय हैं। पुलिस पंजाब यूनिवर्सिटी के साथ शहर के अलग-अलग कॉलेजों में छापामारी कर पूछताछ में लगी थी।

 

डीएसपी चरनजीत सिंह(पीआरओ) ने बताया कि सेक्टर-49 से पॉर्टी के दौरान देर रात पुलिस कंट्रोल रूम में कॉल आई थी। इसके बाद पुलिस ने वहां जाकर वेरिफिकेशन किया। सभी के नाम और अन्य डिटेल भी दर्ज की। देर रात मामला शांत हो गया था। बुधवार सुबह गोली चलाने वाले आरोपित अलग हैं। उनकी पहचान कर तलाश की जा रही है।

9

Comment

10